जवाहरलाल नेहरू पोर्ट बना भारत का पहला 100 प्रतिशत लैंडलॉर्ड मॉडल वाला बंदरगाह बना

● जवाहरलाल नेहरू पोर्ट देश का ऐसा पहला बंदरगाह बन गया है, जहां सभी गोदियों का संचालन पीपीपी प्रणाली से हो रहा है और बंदरगाह की अवसंरचना पर प्राधिकरण का शत प्रतिशत मालिकाना हक रहेगा तथा उसी के नियमों का पालन होगा।
● जेएनपी देश का अग्रणी कंटेनर बंदरगाह है तथा विश्व के 100 बंदरगाहों में 26वें नंबर पर आता है, जैसा कि लॉयड लिस्ट टॉप 100 पोर्ट्स 2021 रिपोर्ट में दर्ज है।
● जवाहरलाल नेहरू पोर्ट कंटेनर टर्मिनल (जेएनपीसीटी) में कुल 680 मीटर लंबाई और 15 मीटर ड्राफ्ट के साथ 2 बर्थ हैं, जिन्हें इस पीपीपी अनुबंध के तहत 54.74 हेक्टेयर के बैकअप क्षेत्र के साथ 30 साल के लिए सौंपा जाएगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*