केरल में, भारत का पहला मंकीपॉक्स मामला पाया गया —

● संयुक्त अरब अमीरात से केरल लौटे एक व्यक्ति में भारत में मंकीपॉक्स के पहले मामले की पुष्टि हुई थी।
● उसके नमूने पुणे के नेशनल वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट भेजे गए, जिसमें बीमारी की पुष्टि हुई।
● यह पहली बार 1958 में बंदरों में पाया गया था।
● डब्ल्यूएचओ के अनुसार, मंकीपॉक्स एक वायरल ज़ूनोसिस (जानवरों से मनुष्यों में प्रसारित होने वाला वायरस) है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*