विश्व हिम तेंदुआ दिवस: 23 अक्टूबर

विश्व स्तर पर 23 अक्टूबर को World Snow Leopard Day यानिविश्व हिम तेंदुआ दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य हिम तेंदुए के संरक्षण के महत्व को दर्शाना और इस अद्भुत जानवर के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। इस दिन को अवैध शिकार रोकने के उपायों पर भी जोर देने के साथ-साथ इसे हिम तेंदुए की सीमा वाले देशों में एक पर्यावरण संगठन के संदर्भ में प्रयासों को मजबूत करने के लिए भी मनाया है है।

हिम तेंदुआ दिवस का इतिहास:

पहला हिम तेंदुआ दिवस 23 अक्टूबर 2014 को बनाया गया था। इस दिन को मनाने की शुरुआत उन देशों द्वारा की गई थी जहां इनकी आबादी पाई जाती हैं। इनमें उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान, रूस, पाकिस्तान, मंगोलिया, किर्गिस्तान, कजाकिस्तान, भारत, चीन, भूटान और अफ़गानिस्तान शामिल हैं। इन देशों 2013 में 23 अक्टूबर को हिम तेंदुए के संरक्षण के संबंध में बिश्केक घोषणा पर हस्ताक्षर किए थे। यह किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में पहली बार आयोजित ग्लोबल स्नो लेपर्ड फोरम में किए गए थे।

हिम तेंदुए के बारे में:

हिम तेंदुए आकर्षक और शक्तिशाली जानवर हैं। हालांकि, वे शिकार और अवैध शिकार के नुकसान की चपेट में हैं। इन जानवरों को मध्य एशिया के 12 विभिन्न देशों में बड़े पैमाने पर वितरित किया जाता है। ये ऊबड़-खाबड़, ऊंची पहाड़ी क्षेत्रों में 3,000 और 4,500 मीटर की ऊंचाई पर पाए जाते हैं। इस प्रजाति की रक्षा करने का प्रमुख तरीका जागरूकता बढ़ाना है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*